Thursday, 4 June 2020

Broken But Beautiful Poetry By Priya Malik Lyrics in Hindi ब्रोकन बट ब्यूटीफुल Lyrics In Hindi

Broken But Beautiful Poetry  By Priya Malik Lyrics in Hindi  
ब्रोकन बट ब्यूटीफुल Lyrics In Hindi


Broken But Beautiful Poetry  By Priya Malik Lyrics In Hindi


आसमान में चमकते हुए सितारे हम रोज देखेते है,
लेकिन किसिस टूटे हुए तारे को देख,
आँखे मूंदे हम सपने सेकते है
कुछ चीजों की कीमत उनके टूटने के बाद बढ़ जाती है,
जैसे की दिल, रिश्ते और उन रिश्तों में उलझे हुए लोगो के टूटे फूटे से दिल

में नहीं जानती की टूटे हुए टुकडो को क्यों जोड़ते हेई
लेकिन इतना जरूर जानती हूँ की ठण्ड से ठिठुरता  हुआ वो आदमी
आज भी फटी हुई चद्दर क्यूँ ओढ़ता है
वो चद्दर आज भी खुद को खुद से मिलाती है.

किन्तुस्गी में जब दो टूटे हुए टुकड़ों को जोड़ा जाता है, उन्हें वक्त दिया जाता है,
गोंड को साँस लेने का कारीगर को टुकड़े बांटने का
दो टूटे हुए लोग भी ऐसे ही मिलते है साँस लेते हुए, सांस देते हुए
पहले जुदा लेकिन फिर साथ भी तो चलते है
साथ चलते है लेकिन वो इस डर से की कंही वो एक बार टूट ना जाए

लेकिन वो प्यार भी क्या ,जिसे खोने का डर ना हो
वो मुसाफिर भी क्या ,जिसका सच में कोई घर ना हो

अगर सफ़र में अकेले चल रहे हो तो
एक ठंडी सांस तो अंदर खींचो,
आज अगर टूटे हुए हो तो
कल सिद्दत से निभाना भी तो सीखो..
सीखो क्योंकि मजनू ने भिलैला के हाथ से ओढा था कफ़न
सीखो क्योंकि शाहजहाँ भी तो आज है मुमताज़ के साथ दफ़न
देखो की इश्क मरने के बाद भी नही मरता,
आशिकों का दिल कभी टूटने से नहीं डरता....|

इश्क की फटी हुई चादर को ओढ़ लो
सीधे रास्ते पर बहुत चल लिए
अब खुद के लिए एक मोड़ लो
एक दुसरे का हाथ थामो सफ़र के लिए, मंजिल के लिए नहीं,,
अपने हमसफ़र को उसकी अपनी राह चुनने दो
रास्ते अलग हो सकते है लेकिन जज्बा रखो तो सही
क्या हुआ अगर टूट जाओगे फिर किसी दिन
उठ के यही तो कहोगे ना I Did It All Over Again....

Broken But Beautiful Poetry  By Priya Malik Lyrics in Hindi  
ब्रोकन बट ब्यूटीफुल Lyrics In Hindi

Aasmaan mein chamkte hue sitaare to hum roz dekhate hain
Lekin sirf kisi toot'te hue taare ko dekh,
Aankhen moonde, hum sapne sekte hain
Kuch cheezon ki keemat unke tootne ke baad badh jaati hai
Jaise ki dil, rishte aur un rishto mein ulajhe hue logon ke toote foote se dil

Main nahin jaanti ki toote hue tukdon ko kaun jodata hai?
Lekin itna jaroor jaanti hoon ki thand se thithurta hua wo aadmi
Aaj bhi fati huyi chaadar kyon odhta hai?
Kyonki wo chaadar aaj bhi use apni yaad dilaati hai
Wo chaadar aaj bhi khud ko khud se milaati hai

Kintusgi mein jab do toote hue tukdon ko joda jaata hai, unhen waqt diya jaata hai
Gond ko saans lene ka,  kaarigar ko tukde baantne ka
Do toote hue log bhi to aise hi milte hai saans lete hue, saans dete hue
Pahle juda lekin phir saath bhi to chalte hain
Saath chalte hain lekin is darr se ki kahin vo ek baar kahin toot na jaye

Lekin wo pyaar bhi kya?
Jise khone ka dar na ho
Wo musaafir bhi kya?
Jiska sach mein koi ghar na ho
Agar safar pe akele chal rahe ho to
Ek thandi saans toh andar kheenchon
Aaj agar toote hue ho to
Kal shiddat se bikharna bhi to seekho
Seekho kyonki majnu ne bhi to laila ke saath odha tha kafan,
Seekho kyonki shahjahan bhi to aaj hai mumtaaz ke saath dafan
Dekho ki ishq marne ke baad bhi nahin marta,
Aashikon ka dil kabhi tootne se nahin darta

Ishq ki fati hui chaadar ko odh lo
Sidhe raaste pe bahut chal liye
Aaj khud ke liye ek mod lo
Ek doosre ka haath thaamo saphar ke liye, manzil ke liye nahin
Apne humsafar ko uski apni raah chunne do
Raaste alag ho sakte hain lekin jazba rakho toh sahi
Kya hua? agar toot jaoge phir kisi din
Uth ke yahi to kahoge na, "I did it all over again."

Broken But Beautiful Poetry  By Priya Malik Lyrics in Hindi  
ब्रोकन बट ब्यूटीफुल Lyrics In Hindi

Related Posts

Broken But Beautiful Poetry By Priya Malik Lyrics in Hindi ब्रोकन बट ब्यूटीफुल Lyrics In Hindi
4/ 5
Oleh