Sunday, 2 December 2018

कभी मिल तो तुझको बताएं हम kabhi mil to tujh ko bataye hum

कभी मिल तो तुझको बताएं हम 

Kabhi mil to tujh ko bataye hum



kabhi mil to tujh ko bataye hum poetry lyrics

कभी मिल तो तुझको बताएं हम,
 तुझे इस तरह से सताएं हम ।

तेरा इश्क़ तुझसे छीन कर,
तुझे मय पिला कर रुलाएं हम ।।

तुझे  दर्द दूं , तू ना सह सके,
तुझे दूं जुबां, तू ना कह सके ,,
तुझे दूं मकान, तू ना रह सके,,,

तुझे मुश्किलों में घेर के, में कोई ऐसा रास्ता निकाल दूं ।।
तेरे दर्द की में दवा करूं, किसी गरज के मैं सिवा करूं ।।
तुझे हर नज़र पर उकेर दूं,  तुझे ज़िन्दगी का सउर दूं   ।।

कभी मिल भी जाएंगे गम ना कर, हम गिर भी जाएंगे गम ना कर ।।
तेरे एक होने में शक नहीं , मेरी नियतों को तू साफ कर ।।
तेरी शान में भी कमी नहीं, मेरे इस कलाम को तूं माफ कर ।।

अगर आपको ये पसंद आया हो तो अपने शायरी और कलाम पसंद दोस्तों को शेयर करना ना भूलें ।।

kabhi mil to tujh ko bataye hum
kabhi mil to tujh ko bataye hum poetry
kabhi mil to tujh ko bataye hum poetry lyrics
kabhi mil to tujh ko bataye hum full
kabhi mil to tujh ko bataye hum poetry written urdu lyrics

Related Posts

कभी मिल तो तुझको बताएं हम kabhi mil to tujh ko bataye hum
4/ 5
Oleh